Loan : Loan Kya hai? - Finance Offer
Aadhar LoanBank LoanBusiness LoanEducation LoanGold LoanHome LoanNew Loan AppOnline LoanPersonal Loan

Loan : Loan Kya hai?

LOAN : Loan क्या होता है।

 

किसी वस्तु को खरीदने के लिए , या फिर कोई काम शुरू करने के लिए , बिज़नेस को बढ़ाने के लिए , किसी पर्सनल काम के लिए बैंक या फिर किसी भी वितिय संस्था से ली जाने वाली वितिय सहायता को ही LOAN या फिर कर्ज़ा खा जाता है।

इस में जिस व्यक्ति को लोन की आवश्यकता होती है, वह लोन की सारी राशि को EMI के साथ ब्याज दर के हिसाब से बैंक या फिर वितिय संस्था को वापिस लौटा देते हैं।

 

तो नमस्कार , आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले है की, भारत में आपको बैंक या फिर वितिय संस्था कितने प्रकार के लोन प्रदान कर सकते है।

 

सबसे पहले हम बात करते है, समय के हिसाब से लोन 3 तरह के होते हैं

1. Short Term Loan

2. Medium Term Loan

3. Long Term loan

 

1. Short Term Loan -: इस  लोन में लोन की बकाया राशि को वापिस करने का समय , 1 साल या फिर इससे काम का होता है।

 

2. Medium Term Loan -: इस तरह के लोन में लोन की बकाया राशि को वापिस करने का समय 1 साल से 3 या 5 साल तक का होता है। इतना तो निश्चित होता है कि लोन की बकाया राशि को वापिस करने के लिए आपको कम से कम 1 साल तक समय मिल जाता है।

 

3. Long Term Loan -: इस तरह के लोन में आपको लोन की बकाया राशि को वापिस करने के लिए 5 साल से ज्यादा समय मिल जाता है।

 

Tenure Rate क्या होता है।

यह एक ऐसा समय है जिसमें बैंक आपको जो लोन की राशि प्रदान करता है उस राशि को वापस लेने के लिए यह बैंक आपको कितना समय दे सकता है। यह सभी अलग-अलग बैंकों द्वारा अलग-अलग होता है । इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप किस तरह से कितना लोन लेते हैं और कितने ब्याज दर पर लोन आपको मिलता है किसी भी बैंक के द्वारा।

 

 

 

अब हम पता करते है कि भारत में बैंक और अन्य वितिय संस्था कितने तरह के लोन प्रदान करते है।

 

1. Personal Loan

इस का मतलब होता है कि , खुद के लिए लोन लेना । वैसे तो लोन सारे खुद के लिए ही लेते है , लेकिन इस तरह के लोन में व्यक्ति अपने खुद के किसी पर्सनल कमा के लिए लोन ले सकता है। इस लोना के लिए हर बैंक की अपनी अपनी ब्याज दर तय होती है। जैसे आज कल SBI BANK की ब्याज दर पर्सनल लोन के लिए 9.60% है। HDFC BANK सालाना 10% से ऊपर का ब्याज दर वसूल रह है। आपकी जानकारी के लिए ये भी बता दें कि पर्सन्ल लोन की ब्याज दर अन्य किसी लोन कि ब्याज दर से ज्यादा होती है।

 

पर्सनल लोन के लिए कौन कौन से दस्तावेजों की जरूरत होती है ।

 

इस लोन को लेने के लिए आपको अन्य किसी लोन से कम दस्तावेजों की आवश्यकता होती है। बहुत सारे बैंक या फिर वितिय संस्था आपको मासिक आय देखते है, और बस आपको लोन प्रदान कर देते है।

 

पर्सनल लोन पर आपको कितना Tenure Rate लगता है?

 

आपको पर्सनल लोन पर जो Tenure Rate लगता है , वह आपको अलग अलग बैंक अलग अलग लोन के हिसाब से लगाते है। वैसे ये लोन आपको 5 साल के लिए मिल जाता है।

 

पर्सनल लोन लेने के आपको कौन कौन सी नियमों और शर्तों की पालना करनी होगी?

पर्सनल लोन देने के लिए , हर बैंक की कुछ अलग अलग नियम और शर्तें होती हैं लेकिन सबसे ज्यादा एक ही शर्त पर गौर किया जाता है कि जिस व्यक्ति को किसी बैंक से या फिर किसी वित्तीय संस्था से लोन चाहिए होता है वह कुछ ना कुछ। यानी वो महीने में कुछ ना कुछ पैसे की कमाई करता हूं। यहां अप्र भी अलग अलग बैंको का अलग लग हिसाब होता है। जैसे,SBI BANK तो अपने ग्राहकों को ₹15000 मासिक आय के होने पर ही लोन दे देता है। वहीं HDFC BANK अपने ग्राहकों को 12,000 मासिक आय होने पर लोन दे देता है।

 

2. Gold Loan

सोने को बैंक में रखकर मिलने वाले क्या स्कोर गोल्ड लोन कहा जाता है। इस तरह के लोन के लिए आपको अपने गहने या फिर कुछ भी सोने की चीज बैंक में जमा करवानी होती है और उस चीज के बदले में बैंक आपको कुछ पैसे देता है और आपको एक निश्चित समय के अंदर अंदर उन पैसों को लौटा कर अपने सोने को लेना होता है। आपको जो बैंक के द्वारा राशि दी जाती है जो वह सोने की कीमत को देख कर दी जाती है।वैसे भी अभी यह देखा गया है कि जो बैक कंपनियां या फिर वित्तीय संस्थान आपको गोल्ड लोन प्रदान करती हैं।

वह कंपनियां गोल्ड की जो असली कीमत होती है उसका 80% आपको दे देती है। गोल्ड लोन पर जो ब्याज दर लगने वाला होता है या फिर जो‌ ब्याज दर आपसे बैंक कंपनियां या वित्तीय संस्थान वसूल करती है वह ब्याज दर , पर्सनल लोन की तुलना में बहुत ही ज्यादा कम होता है। इस तरह के लोन को लोग बहुत ही ज्यादा इमरजेंसी के समय में लेते हैं क्योंकि यह लोन आपको बहुत ही जल्दी मिल जाता है क्योंकि इस रोल में आपको सिर्फ अपना सोना गिरवी रखना होता है जिसके बाद आपको वह बैंक या फिर वह वित्तीय संस्था तुरंत पैसे दे देती है।

आज के समय में एसबीआई बैंक गोल्ड लोन के लिए आप लोगों से सालाना 11% तक का ब्याज दर वसूल करती है । एचडीएफसी बैंक आपसे साल का 13 परसेंट इंटरेस्ट रेट लगाती है यदि आप यहां से गोल्ड लोन लेते हैं तो।

 

इस तरह के लोन के लिए आपको किसी भी तरह के कुछ महत्वपूर्ण है नियमों और शर्तों की पालना नहीं करनी पड़ती। लेकिन फिर भी कुछ आम सी चीजें हैं जो आपको पूरी करनी पड़ती है।

सबसे पहले तो आप कुछ ना कुछ काम करते हैं। और आपकी उम्र 21 वर्ष से लेकर 58 वर्ष के बीच बीच में होनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें //financeoffer.in/quick-loan-quick-loan-se-loan-kaise-lein/

3. Loan Against Security

इस तरह के लोन के लिए आपको बैंक में कुछ सिक्योरिटी डॉक्यूमेंट देने होते हैं। अब सवाल यह उठता है कि यह जो सिक्योरिटी डॉक्यूमेंट है यह होता क्या है। दोस्तों अगर अपने पहले किसी भी बैंक से लोन लिया हुआ है या फिर किसी भी मुचल फंड में इन्वेस्ट किया हुआ है या फिर किसी भी तरह का इंश्योरेंस कराया हुआ है तो यह सभी आपके सिक्योरिटी पेपर होते हैं।

बैक अपको इनी पेपरों के आधार पर लोन दे देता है और अपने पास यह पेपर से रख लेता है। यदि आप किसी कारण से बैंक से लिया हुआ लोन वापस नहीं कर पाते तो बैंक आपके यह सिक्योरिटी दस्तावेजों को जप्त कर लेता है और बाजार में बेच देता है। आप अपने इनसिक्योरिटी डॉक्यूमेंट को बैंक के पास गिरवी रखकर Loan ले सकते हैं।

इसमें बैंक आपको ओवर विड्रोल की सुविधा प्रदान कर देता है।अब आपको मैं बता दूं कि ओवर विड्रोल क्या होता है। ओवर विड्रोल होता है , एक ऐसी सुविधा जो बैंक आपको अपने सिक्योरिटी डॉक्यूमेंट को अपने पास गिरवी रखने पर देती है इसके आधार पर आप अपने बैंक खाते में से कितनी रकम असल में है , आप इतनी रकम से अधिक बैंक से निकलवा सकते हैं।

 

लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी तो लेने के लिए आपको कौन-कौन सी एलिजिबिलिटी को पूरा करना होता है।

 

सबसे पहले तो , आपकी उम्र कम से कम 21 वर्ष होनी चाहिए।

इस बात से फर्क बिल्कुल भी नहीं पड़ता कि आप भारत के निवासी हैं या फिर आप किसी और देश के निवासी हैं आप इस लोन को कैसे भी ले सकते हैं।

 

लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी को लेने के लिए आपको किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ने वाली है।

1. पहला , आइडेंटिटी प्रूफ , आप का पहचान पत्र । इसके लिए आप अपना आधार कार्ड उस बैंक कंपनी को या फिर उस वित्तीय संस्था को दे सकते हैं आपको अपने आधार कार्ड की फोटो कॉपी जमा करवानी होती है।

2. दूसरा, आपका एड्रेस प्रूफ यानी आप कहां रहते हैं आपका पक्का पता क्या है। इसके लिए आप अपना पैन कार्ड भी दे सकते हैं या फिर आप अपना बिजली का बिल भी दे सकते हैं या फिर आप अपना राशन कार्ड भी दे सकते हैं। आपको इन सभी दस्तावेजों में से किसी एक की फोटोकॉपी को बैंक को जमा करवाना होता है।

3. अगर आप किसी कंपनी के मालिक हैं या फिर अगर आपको भी अपना ही बिजनेस है तो आपको आपके द्वारा भरा गया पूरे साल का कर भी दिखाना होगा। आपको कितना फायदा हुआ है या फिर कितना नुकसान हुआ है आपको यह सब जानकारियां उस बैंक को दिखानी होगी किस बैंक से आप लोन अगेंस्ट सिक्योरिटी लेने वाले हैं।

 

4. Property loan

प्रॉपर्टी लोन वह‌ लोन होता है जो कोई बैंक या फिर वित्तीय संस्था आपके घर की कागजात को गिरवी रख कर आपको दे सकता है। आमतौर पर जो भी प्रॉपर्टी की असली कीमत होती है आपको उस कीमत का 40 से 60 % तक का लोन मिल जाता है।

 

प्रॉपर्टी लोन के लिए आपको कौन कौन से दस्तावेज की जरूरत पड़ सकती है

प्रॉपर्टी लोन लेने के लिए आपको अलग-अलग किस्म के दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है जो इस बात पर निर्भर करते हैं कि आप कैसा काम करते हैं।यानी आपका खुद का बिजनेस है या फिर आप कहीं पर मासिक आय के तौर पर काम करते हैं।

 

अगर आप कहीं पर मासिक आय के तौर पर काम करते हैं।

 

1. सबसे पहले तो आपको अपनी सबसे लेटेस्ट सैलरी स्लिप दिखानी होगी या फिर सैलरी स्लिप की आवश्यकता होगी।

 

2. आपको अपनी बैंक खाते की पिछले 3 महीने की स्टेटमेंट भी दिखानी होगी। जिससे यह सुनिश्चित हो जाता है कि आप के द्वारा दिया गया बैंक खाता अभी चालू अवस्था में है।

 

3. पैन कार्ड क्या फिर आधार कार्ड। आपको इन दोनों दस्तावेजों में से किसी एक दस्तावेज की फोटो कॉपी जमा करवानी होगी।

 

4. आपको अपना एड्रेस प्रूफ दिखाना होगा जिसके लिए आप अपने पैन कार्ड या फिर अपने बिजली बिल या फिर अपने राशन कार्ड की फोटो कॉपी भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

 

5. आपको उन दस्तावेजों की कॉपी जरूर करानी होगी, जीन दस्तावेजों के आधार पर आप प्रॉपर्टी लोन लेना चाहते हैं।

 

अगर आप अपना बिजनेस करते हैं, तो आपको किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ने वाली है।

1. सबसे पहले तो दोस्तों कोई भी कंपनी अगर आप अपना बिजनेस करते हैं तो यहीं देखती है कि आपको आपके बिजनेस में कितना मुनाफा हो रहा है या फिर कितना घाटा हो रहा है जो इसके लिए आपको अपने द्वारा भरा हुआ इनकम टैक्स दिखाना होता है।

 

प्रॉपर्टी लोन लेने के लिए आपको कौन-कौन सी एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया को पूरा करना होगा।

 

आपको जहां पर भी अलग-अलग तरह के एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया को पूरा करना होगा जो इस बात पर दीपक करेगा कि आप अपना खुद का काम करते हैं या फिर कहीं पर सैलरी के तौर पर काम करते हैं।

 

अगर आप कहीं पर सैलरी के तौर पर काम करते हैं तब आपको किन किन एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया को पूरा करना होगा ।

 

1. आपकी जो आयु है वह 33 वर्ष से लेकर 58 वर्ष के बीच बीच में होनी चाहिए।

 

2. आप कहीं ना कहीं पर काम जरुर करते होने चाहिए।

 

3. आप भारत के नागरिक होने चाहिए यदि आप भारत के नागरिक नहीं है तो आपको प्रॉपर्टी लोन नहीं मिल सकता।

 

अगर आपका खुद का बिजनेस है तब आपको कौन-कौन से एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया को पूरा करना होगा।

 

1. अगर आपका खुद का बिजनेस है तब आपको जो उम्र है वह कम लग जाती है । आपको 25 वर्ष से लेकर 58 वर्ष तक के बीच बीच में लोन मिल सकता है।

 

2. अब भारत के स्थाई नागरिक होने चाहिए।

 

3. आपकी कमाई का कोई ना कोई साधन तो अवश्य ही होना चाहिए।

 

5. Home Loan

घर बनाने के लिए किसी बैंक से या फिर किसी वित्तीय संस्था से जो लोन दिया जाता है उसी लोन को होम लोन कहा जाता है। आपको मैं एक बात बताना चाहता हूं कि आप केवल घर को बनाने के लिए ही नहीं लोन ले सकते। बल्कि आप घर बनाने के लिए जो तो जमीन जरूरी होती है , घर की रजिस्ट्री के लिए जो कीमत लगती है या फिर स्टैंप ड्यूटी के लिए जो कीमत लगती है उन सभी के जोड़ कर कर आप बैंक से लोन ले सकते हैं।

कितनी भी कुल घर बनाने की कीमत बनती है बैंक आपको उस कीमत का 75% से लेकर 80% तक का लोन दे सकती है। बाकी के 20% का जुगाड़ आपको खुद ही करना होता है । मान लीजिए कि आपने एक ₹600000 का प्लॉट खरीदा है बैंक से होम लोन लेकर । तब आप बैंक को ₹130000 देकर बाकी की बकाया राशि को ईएमआई के तौर पर महीने भर महीने इंस्टॉल में में भर सकते हैं। होम लोन आपको 5 साल से लेकर 20 साल तक मिल सकता है।

होम लोन के लिए जो आपको लोन दिया जाता है उस लोन में आप का प्रोसेसिंग फीस भी लगता है और एडमिन चार्जेस भी लगते हैं।

 

होम लोन लेने के लिए आपको कौन-कौन से एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया को पूरा करना होगा।

 

यहां पर भी आपको अलग अलग किसम के एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया को पूरा करना होगा जो इस बात पर निर्भर करेगी कि आप मासिक आय के तौर पर कहीं पर काम करते हैं या फिर आपका खुद का कोई बिजनेस है।

 

अगर आपको खुद का कोई बिजनेस है तब आपको यहां से जो लोग मिलने वाला है उसके लिए जो आपकी उम्र होनी चाहिए , वह उम्र 23 वर्ष से लेकर 62 वर्ष के बीच बीच में होनी चाहिए।

आपका सिबिल स्कोर कम से कम 750 तो जरूर होना चाहिए, यदि आपका सिबिल स्कोर 750 से कम होता है तब आपको होम लोन नहीं दिया जा सकता।

आपकी मासिक आय कम से कम ₹25000 होनी ही चाहिए चाहे आप कहीं पर काम करते हो या फिर आपका खुद का बिजनेस ही क्यों ना हो।

आप भारत के नागरिक हो।

 

अगर आपको खुद का बिजनेस है तो आपको होम लोन लेने के लिए कौन कौन से एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया को पूरा करना होगा।

 

सबसे पहले तो दोस्तों आपकी उम्र 25 वर्ष से लेकर 52 वर्ष होनी चाहिए यदि आप की उम्र 25 वर्ष से लेकर 52 वर्ष के बीच में नहीं है तब आपको हम लोड नहीं मिल सकता। यह उम्र अलग-अलग बैंकों और अलग-अलग वित्तीय संस्थाओं के द्वारा अलग-अलग भी हो सकती है।

यहां पर भी आपका सिबिल स्कोर 750 तक होना चाहिए।

यदि आपको कोई बिजनेस है तो वह बिजनेस कम से कम 5 साल पुराना होना चाहिए।

आपकी जो नागरिकता है वह भारत की होनी चाहिए।

 

होम लोन देने के लिए आपको मुख्य तौर पर किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता होती है।

 

होम लोन लेने के लिए कुछ कुछ दस्तावेज तो एक जैसे ही लगते हैं चाहे आप कहीं काम करते हो या फिर आपका खुद का बिजनेस है लेकिन कुछ दस्तावेज अलग-अलग होते हैं जैसे कि हम आपको नीचे बताने वाले हैं।

 

1. आपको जिस जमीन पर घर बनवाना है उस जमीन के कागजात की जरूरत होगी।

2. आपको अपना आईडी प्रूफ दिखाना होगा। जिसके लिए आप अपना आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट ड्राइविंग लाइसेंस का इस्तेमाल कर सकते हैं। आपको इन सभी दस्तावेजों की फोटोकॉपी ही देनी होती है।

3. फिर आपको अपने एड्रेस प्रूफ की भी जरूरत होती है जिससे आपका पक्का पता मालूम हो जाता है। इसके लिए आप दो नंबर पर दिखाए गए किसी भी दस्तावेज का इस्तेमाल कर सकते हैं। इन सभी दस्तावेजों के अलावा आप यहां पर अपना बिजली का बिल, अपना पानी का बिल, या फिर अपना टेलीफोन बिल भी दिखा सकते हैं। आपको इन सभी दस्तावेजों की भी फोटो कॉपी ही देनी होती है।

4. इसके अलावा आपको अपनी कुछ पासपोर्ट साइज फोटो भी देनी होती है जो कि लोन अप्लाई करने से 3 महीने पुरानी ही होनी चाहिए।

 

अब उन दस्तावेजों की बात कर लेते हैं जिनकी आपको आवश्यकता होगी होम लोन लेने के लिए अगर आप किसी कंपनी में सैलरी के तौर पर काम कर रहे हैं।

1. आपको अपनी सैलरी स्लिप दिखानी होगी। सीधा सैलरी आपके बैंक खाते में ही आनी चाहिए।

2. आपको अपने बैंक की पिछले 3 महीने की स्टेटमेंट दिखानी होगी नहीं तो आप अपने 6 महीने की पासबुक की एंट्री भी दिखा सकते हैं।

 

आप उन दस्तावेजों की बात कर लेते हैं चीन की आपको जरूरत पड़ सकती है , होम लोन लेने के लिए यदि आपका अपना बिजनेस है।

1. आपको यह प्रूफ दिखाना होगा कि आपका खुद का कोई बिजनेस है। इसके लिए आप अपने पैन कार्ड, जीएसटी रजिस्ट्रेशन नंबर , पार्टनरशिप सर्टिफिकेट , ROC रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट , SBIE रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट , IMPORT , EXPORT CODE का इस्तेमाल कर सकते हैं।

2. आपको अपनी वित्तीय स्टेटमेंट भी दिखानी होगी।

जिसमें आपका कुल लाभ और घाटा बताने वाली स्टेटमेंट भी शामिल होगी। जिससे यह पता चल सके कि आपकी कंपनी या फिर आपके बिजनेस को सालाना कितना लाभ या हानि होता है या हुआ है। आप अपने खाते की बैलेंस शीट भी दिखा सकते हैं।

3. आपको अपने खाते की पिछले 3 महीने की बैलेंस स्टेटमेंट भी दिखानी होगी जो आपका सीए बनाकर दे सकता है।

 

6. Educational Loan

आज के समय में हर एक विद्यार्थी के नसीब में यह नहीं हो पाता है कि वह अपने सपनों के इंस्टिट्यूट में काम कर पाए या फिर वहां पर पढ़ पाए क्योंकि वहां की फीस ही बहुत ज्यादा होती है। ऐसी स्थिति में उन कॉलेजेस या फिर उन इंस्टिट्यूट में जाकर पढ़ाई करने के बारे में सोचना ही बहुत मुश्किल है। ऐसी स्थिति से बचने के लिए हम बैंक से एजुकेशन लोन ले सकते हैं।

बैंक एजुकेशन लोन देने से पहले उसकी रीपेमेंट बिल्कुल निश्चित करता है यानी कि जो हम किसी विद्यार्थी को लोन देंगे वह हमको लोन की राशि जरूर वापस करेगा। बहुत ही ज्यादा देखने को यह मिलता है कि लोन सिर्फ उन्हीं विद्यार्थी को दिया जाता है जो इस लोन को वापस करने की क्षमता रखते हैं।

स्टूडेंट की क्षमता की जांच दो तरीकों से करते हैं।

1. सबसे पहले दो किस विद्यार्थियों को बैंक लोन देने वाला है उस विद्यार्थी के माता-पिता या फिर जो भी रिश्तेदार विद्यार्थी के संपर्क में होंगे लोन लेते वक्त , उनकी मासिक आय देखता है।

2. दूसरा बैंक यह देखता है कि विद्यार्थी चीज भी इंस्टिट्यूट में या फिर जिस भी कॉलेज में पढ़ाई करने के लिए जाने वाला है उस कॉलेज से डिग्री समाप्त करने के बाद उस विद्यार्थी को कितने तक की नौकरी लग सकती है या फिर उस कॉलेज का जॉइनिंग रेशों क्या है।

आज की इस डेट में एसबीआई बैंक लोन 7.50% प्रतिशत की ब्याज दर से एजुकेशन लोन मुहैया कराता है।

 

7. वाहन लोन

 

बैंक अक्सर कार को खरीदने के लिए लोन के लिए अलग-अलग तरह की लोन की स्कीम देते रहते हैं। यह लोन बाकी ही अलग-अलग लोन की तरह अलग-अलग इंटरेस्ट रेट और अलग-अलग रीपेमेंट के के समय के अनुसार दिए जाते हैं। जब तक लोन की सारी राशियां बैंक को वापस नहीं कर देते तब तक कार पर मालिकाना हक लोन देने वाली कंपनी का ही होता है।

 

तो दोस्तों आज इस आर्टिकल में आपने जाना कि आपको भारत के अलग-अलग बैंकों और अलग-अलग वित्तीय संस्थाओं के द्वारा कितना और किस तरह का लोन दिया जा सकता है। आपको इस लोन को लेने के लिए किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ने वाली है। अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई हो तो इस जानकारी को अपने दोस्तों तक पहुंचाई और अगर आपको कोई भी सुझाव हो तो हमें कमेंट में जरूर बताएं। मिलते हैं दोस्तों आप से अगली ऐसी ही आर्टिकल में तब तक के लिए जय हिंद वंदे मातरम

Related Articles

One Comment

  1. Hi Mohammed aabid Khan mujhe loan ki jarurat hai main ek Chhota sa kam badhana chahta Hun main ek aur sal Ka kam karna chahta hun machhali palan machhali supply murga supply ka kam karta hun mujhe 2 lakh rupaye ki jarurat hai

Leave a Reply

Your email address will not be published.